40+ सच्ची मोहब्बत शायरी | Sachi Mohabbat Shayari In Hindi

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
Sachi Mohabbat Shayari

Sachi Mohabbat Shayari: यह लेख सच्ची मोहबब्त करने वालो के लिए बहुत ही खास होने वाला है क्योंकि इस लेख में टॉप मोहब्बत शायरी की कलेक्शन साझा किया गया है। नीचे दिए गए शायरी बहुत ही सुंदर और स्पेशल है इन शायरी को अपनी पार्टनर के साथ जरूर शेयर करे जो आपके रिश्ते में मिठास और रोमांटिक भाव का संचार करेगा।

सच्ची मोहब्बत शायरी

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
Sachi Mohabbat Shayari

हमारे हाथों में इक शक़्ल चाँद जैसी थी,
तुम्हें ये कैसे बताएं वो रात कैसी थी,
महक रहे थे मिरे होंठ उसकी ख़ुश्बू से
अजीब आग थी बिलकुल गुलाब जैसी थी।

ऐसा क्या बोलूं कि तेरे दिल को छू जाए,
ऐसी किससे दुआ मांगू कि तू मेरी हो जाए,
तुझे पाना नहीं तेरा हो जाना है मन्नत मेरी,
ऐसा क्या कर दूं कि ये मन्नत पूरी हो जाए।

तुम मुझे अब मेरी ज़रूरत लगते हो,
ख़ुदा की नेमत उसी की मूरत लगते हो,
खूबसूरत हो इसलिए पसंद नहीं करते
पसंद हो इसलिए खूबसूरत लगते हो।

यूँ तो मिलेंगे चाहने वाले तुम्हें और
भी इस जहां में,
हो कमी फिर भी महसूस मेरी
तो समझना इश्क़ है।

आपके आने से ज़िन्दगी कितनी ख़ूबसूरत है,
दिल में बसी है जो वो आपकी ही मूरत है,
दूर नहीं जाना हमसे कभी भूलकर भी,
हमे हर कदम पर बस आपकी जरुरत है।

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
Sachi Mohabbat Shayari

सौ दर्द हैं मुहब्बत में,
बस एक ही राहत हो तुम,
नफरत बहुत है इस जहां में,
बस एक ही चाहत हो तुम!

कितनी गौर से देखा होगा
मेरी आँखों ने तुम्हे,
कि तुम्हारे बाद कोई और चेहरा
हसीन ही नही लगा।

बेजुबाँ सा है इश्क़ मेरा,
कभी मेरे आंखों में पढ़ लेना,
जो इज़हार हम कर नही पाते,
उसे मेरे लफ़्ज़ों में समझ लेना।

तेरी आवाज़ मेरी ज़रूरत,
तेरी मोहब्बत मेरी आदत,
तेरी खामोशी मेरी सज़ा,
तेरी ख़ुशी मेरी ज़िंदगी।

है इश्क़ पे सवाल तो ये शर्त अपना के देख लो,
तुम कुछ पल मेरे साथ गुज़ार के देख लो,
रह ना पाओगे फिर मेरे दूर जाने से,
तुम रफ्ता रफ्ता मुझे आज़मा के देख लो।

Sachi Mohabbat Shayari

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
Sachi Mohabbat Shayari

मोहब्बत का सहारा मिल गया,
कोई शख्स हमें प्यारा सा मिल गया,
वो ऐसे आई जिंदगी में मेरी,
जैसे कश्ती को किनारा मिल गया।

किन लफ़्ज़ों में बयां करू मैं
अहमियत तेरी, की बिना तेरे
नामुमकिन सी लगती है,
जिंदगी मेरी।

भूल जाए तुमको कोई इरादा नहीं हैं,
तेरे सिवा किसी और से वादा नहीं हैं..
निकाल देते दिल से शायद तुमको
मगर इस नादान दिल में दरवाजा नहीं है!

मशवरा दे मुझे ये बता दें मुझे,
दिल तुझपे जो आए तो मैं क्या करूं,
दिल संभलता नहीं ज़ोर चलता नहीं,
प्यार बढ़ता ही जाए तो मैं क्या करूं।

दिल ये मेरा तुमसे प्यार करना चाहता है,
अपनी मोहब्बत का इज़हार करना चाहता है,
देखा है जब से तुम्हें ऐ मेरे सनम,
सिर्फ तुम्हारा ही दीदार करना चाहता है।

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
Sachi Mohabbat Shayari

कविता शायरी कुछ नहीं आता
मैं बस दिल की बात लिखता हूँ ,
कहे-अनकहे लफ्ज के बहाने से
तुमसे अपनी मोहब्बत लिखता हूँ।

दोस्ती भी तुम प्यार भी तुम,
एक भी तुम हजार भी तुम,
माफी भी तुम गुस्सा भी तुम,
ज़िन्दगी के सफ़र में,
मेरे लिए काफी हों तुम।

चाँद निकलेगा तो दुआ मांगेंगे,
अपने हिस्से में मुकदर का लिखा मांगेंगे,
हम तलबगार नहीं दुनिया और दौलत के,
हम रब से सिर्फ आपकी वफ़ा मांगेंगे।

दिल में जगह बनाने के लिए
दिल तक जाना होता है,
रिश्ते यूँ ही नही हो जाते खास
पहले इनको बेवजह निभाना होता है।

दिल चाहता है
आज फिर एक पैगाम दे दूँ,
मरते दमतक तुम्हें
चाहने की जुबान दे दूँ!

सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
सच्ची मोहब्बत शायरी

सागर सी जिंदगी का बेहतरीन पन्ना हो तुम,
ख्वाब ही सही मगर दिल की तमन्ना हो तुम।

इश्क़ की दास्ताँ का एक ज़िंदा किरदार बन जाऊँ,
ज़िक्र जब भी तुम्हारा हो बयाँ मै हो जाऊँ।

साँसों में बेताबी हैं आँखों में हैरानी है,
इस दिलों के पन्नों पर सिर्फ तेरी कहानी हैं।

छाई रहे युं ही इश्क की खुमारीयां,
मेरी रूह पर तेरी रूह की दावेदारियां।

बात सिर्फ मोहब्बत की नहीं है,
मेरा जेहन आदी है उसके ख्याल का।

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
सच्ची मोहब्बत शायरी

रंग और नूर से रंगीन कायनात है सारी,
मेरी जिन्दगी का रंग तो मुस्कान है तुम्हारी!

मैं उसके ज़िक्र में भी नहीं अब,
और वो मुझे लफ्ज़ लफ्ज़ याद है।

खयाल ही नहीं आता किसी का,
जब से ख्यालो में बसाया है तुम्हें।

बाक़ी सब फीका और सादा हो जाए,
बस तुम्हारा प्रेम हर रोज मेरे लिए ज़्यादा हो जाए।

आसमां में चांद और मेरे सिरहाने तुम,
संग ऐसे जंचते हैं जैसे इतवार और सुकून।

Sachi Mohabbat Shayari Image

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
सच्ची मोहब्बत शायरी

इन दूरियों में भी
नजदीकियों का एहसास हैं,
क्योंकि इक दूजे के
दिल में ठिकाना है हमारा।

इश्क़ ऐसा करो कि धड़कन में बस जाये,
साँस भी लो तो खुशबू उसी की आये,
प्यार का महका नशा आँखों पर छा जाये,
बात कुछ भी हो पर नाम उसी का आए।

मैं किसी और से दिल लगाऊं
भी तो किया लगेगा,
मैं लफ्ज़े मोहब्बत सुनता हूं तो
वही शख्स याद आता है।

अपने दिल की सुन अफवाहों से काम न ले,
मुझे याद रख बेशक मेरा नाम न ले,
तेरा वहम है कि मैं भूल गया हूं तुझे
मेरी कोई सांस नहीं जो तेरा नाम न ले।

इस दिल को अगर तेरा एहसास नही होता,
तू दूर भी रह कर के यूँ पास नही होता,
इस दिल ने तेरी चाहत कुछ ऐसे बसा ली है,
एक लम्हा भी तुझ बिन कुछ खास नही होता।

सच्ची मोहब्बत शायरी, Sachi Mohabbat Shayari, सच्ची मोहब्बत शायरी 2 लाइन
सच्ची मोहब्बत शायरी

काश वो मुझे सीने से लगाकर
मेरी सारी शिकायत दूर कर दे,
मैं सिर्फ उनका हो जाऊं
मुझे वो इतना मजबूर कर दे।

हर रंग लग गया देह पर,
फिर भी तन ना लाल हुआ,
लेकिन जब मिली नजर
तुमसे मेरा रोम रोम गुलाल हुआ।

मोहब्बत भरी नजरों में ख्वाब मिलने,
कहीं कांटे तो कहीं गुलाब मिलेंगे,
मेरे दिल की किताब को पढ़कर तो देखो,
कहीं आपकी याद तो कहीं खुद आप मिलेंगे।

प्यार का बदला कभी चुका ना सकेंगे,
चाह कर भी आपको भुला ना सकेंगे,
तुम ही हो मेरे लबों की हंसी,
तुम से बिछड़े तो फिर मुस्कुरा ना सकेंगे।

जिंदगी गुजर जाए पर प्यार कम ना हो,
याद हमें रखना चाहे पास हम ना हो,
कयामत तक चलता रहे प्यार का सफर,
दुआ करो रब से ये रिश्ता कभी खत्म ना हो।

बात बात में, मेरी हर बात में
तेरी बात का आ जाना,
अच्छा लगता है मुझे तेरा यूं,
मेरे दिलों दिमाग पर छा जाना।

Leave a Comment