40+ Prem Shayari in Hindi | प्रेम शायरी हिंदी में

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

Prem Shayari: प्रेम शायरी की इस लेख में आपका स्वागत है इस लेख की बेस्ट प्रेम की शायरी, प्रेम शायरी 2 लाइन, prem shayari in hindi की संग्रह पढ़िए और शेयर करे अपने पार्टनर के साथ।


Prem Shayari In Hindi

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,
आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,
बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,
हम जिंदगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे।


मैं क्या हूं तुम्हारे लिए,
ये तो तुम्हारा मन जाने,
मेरे लिए तो इस शोर भरी,
दुनियां में सुकून हो तुम।


ठहर ही जाती है नजर,
उनके रुखसार पर आकर
क्या ही कहा जाय उनका
खुमार ही कुछ ऐसा है!


गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है,
कौन सी खूशबू मुझमें बसा गए हो तुम,
जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा,
ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गए हो तुम।


तुम्हारे बाद कोई शख्स
लाज़मी नहीं लगा मुझे,
तुम्हारे बाद हर शख्स को
छोड़ सकता हूं मैं!


Love Prem Shayari

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

फुर्सत के लम्हों में देखकर
तुमको जी लेते हैं हम,
नहीं मिलते पास तो
ख्वाबों में ही मिल लेते हैं हम।


जुस्तजू दिल में,
हर लम्हा यही रही,
आरजू तेरी थी,
और बस तेरी ही रही।


बहुत वक़्त लगा हमें आप तक आने में,
बहुत फरियाद की खुदा से आपको पाने में,
कभी तुम यह दिल तोड़कर मत जाना,
हमने उम्र लगा दी आप जैसा सनम पाने में।


ख़्यालों के जज़ीरे पे बैठे हैं
हम दिल थाम के,
कि कब उनका दिल धड़के
और वो हमारा नाम लें!


वक्त को चाहता हूँ थोड़ा
ठहर जाये कहीं,
करते हैं इबादत तो
तुम्हें माँग लेते हैं हम।


प्रेम शायरी हिंदी

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

दिल करता है तेरे सीने में
दिल बन के रहें,
तुम धड़कनों को संभालो
और हम धड़कते रहे।


तेरे सीने से लगकर तेरी आरजू बन जाऊँ,
तेरी साँसो से मिलकर तेरी खुश्बू बन जाऊँ,
फासले ना रहें कोई तेरे मेरे दरमिआँ,
मैं…मैं ना रहूँ, बस तू ही तू बन जाऊँ।


जरा भी नहीं देखेंगे किसी और को,
तुमको पाकर मतलबी हो जायेंगे हम।


सुकून मिलता है तेरे पास आकर,
जो मिलता किसी और से नहीं,
इश्क़ है या कुछ और नहीं मालूम मुझे,
मगर जो तुझसे है वह किसी और से नहीं।


एक जुस्तजू एक चाहत
और एक एहसास सा है,
हमारा और उसका इश्क
बहुत खास सा है।


Hindi Prem Shayari

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

क्या चाहूँ रब से तुम्हें पाने के बाद,
किसका करूँ इंतज़ार तेरे आने के बाद,
क्यों मोहब्बत में जान लुटा देते हैं लोग,
मैंने भी यह जाना इश्क़ करने के बाद।


यादें दो दिलों के फासले को कम करती है,
ज़िन्दगी आप जैसे दोस्तों पर नाज़ करती हैं
मत हो उदास कि आप दूर हैं हमसे,
क्योंकि दूरियां ही रिश्तों को और खास करती हैं।


रंग और नूर से रंगीन कायनात सारी है,
हमेशा रहना साथ मेरे साथ
चाहत बेशुमार है जरूरत तुम्हारी है,
सारी खुशियाँ मेरी इक तरफ
पर मेरी ज़िंदगी का रंग तो मुस्कान तुम्हारी हैं…!


जुनून है मेरा मैं बनूं तेरे काबिल
चाहत बहुत है दिल में
करना चाहता हूँ तुम्हें हासिल।


हम नहीं कहते हैं कि
हमें जिंदगी का हिस्सा बनाए रखना,
बस दूर होकर भी दुरियां न लगे,
इतना सा रिश्ता बनाए रखना।


सच्चा प्रेम शायरी

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

शिकवा करने गए थे और
इबादत सी हो गयी,
तुझे भूलने की जिद्द थी,
मगर तेरी आदत सी हो गयी।


संभाले नहीं संभलता है दिल,
मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार है तेरा चला आ,
अब ज़माने का बहाना न बना।


टाइम लगेगा तो भी चलेगा,
लेकिन मेरी जान मुझे
इंतज़ार सिर्फ़ तुम्हारा है।


हर पल दिल में तेरा ख्याल रहता है,
हर पल दिल में उठता एक सवाल रहता है,
आओगे कब तुम मिलने हमें
इस दिल को सुकून तुमसे रहता है।


गिले भी हैं तुझसे,
शिकायतें भी हजार हैं,
फिर भी जाने क्यों,
मुझे तुझसे ही प्यार है।


Shayari On Prem In Hindi

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

शामिल हो आप मेरी
हर एक कहानी में,
कभी होठों की हँसी में
कभी आँखों के पानी में।


तम्मना हो मिलने की तो
बंद आँखों में भी नज़र आएंगे
महसूस करने की तो कोशिश कीजिए
दूर होते हुए भी पास नजर आएंगे!


सात फेरों से तो,
महज शरीर पर हक मिलते हैं,
आत्मा में हक तो
रूह के फेरों से मिलते हैं!


लाखों महफ़िल हैं,
हजारों मेले हैं,
पर जहां नहीं हो आप
हम वहां बिल्कुल अकेले हैं।


खुद का खास ख्याल रखा करो,
सांसे बेशक तुम्हारी हैं,
लेकिन तुम्हारे अंदर बसने वाली जान हमारी है,
खुद को संभालकर रखा करो।


रोमांटिक प्रेम शायरी

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

तुम्हारे लिए मेरा ख्याल नहीं बदलेगा,
दिन बदलेंगे साल बदलेगा,
लेकिन आपके लिए हमारा
प्यार नहीं बदलेगा।


हमारी तड़प तो कुछ भी नहीं है हुजुर,
सुना है कि आपके दिदार के
लिए तो आइना भी तरसता है।


न जाने क्या कशिश है,
उनकी मदहोश आँखों में,
नज़र अंदाज़ जितना करो,
नज़र उन्हीं पे ही पड़ती है।


नदी को सागर से मिलने से ना रोको,
बारिस की बूंदों को धरती से मिलने से ना रोको,
जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना जरुरी है,
मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको।


मुझे कबूल ये भी नही तुझे आइना देखे,
तुझे बस मैं देखू या फिर मेरा खुदा देखे!


Prem Shayari 2 Line

prem shayari 2 line, Prem shayari in hindi, love prem shayari, hindi prem shayari, shayari on prem in hindi, प्रेम शायरी, प्रेम शायरी हिंदी, रोमांटिक प्रेम शायरी
Prem Shayari in Hindi

कौन कहता है इश्क एक बार होता है,
जितनी बार देखता हूं तुम्हें हर बार होता है।


तुझे चंद शायरी में कैसे मै बयां कर दूं
मेरे जन्मों का ख़्वाब और वर्षों का इंतजार है तू।


अकेला था तो कलम बस दर्द लिखती थी,
तुम्हारे आने से कलम अब तुम्हे ही लिखती है।


कुछ तो जादू है तेरे नाम में,
नाम सुनकर ही धड़कने बढ़ जाती है।


साँस साँस पर नाम तेरा,
जाने क्या होगा अंजाम मेरा।


वो बात और है तुम्हें परहेज है अब हमसे,
हमसे कोई पूछे तो इश्क़ तुमको ही कहेंगे।


Leave a Comment