50+ Bhagavad Gita Quotes in Hindi | भगवत गीता के अनमोल वचन

20230118 065924

Bhagavad Gita Quotes in Hindi: श्रीमद् भगवद् गीता एक पवित्र ग्रंथ है। महाभारत युद्ध के दौरान भगवान श्री कृष्ण ने अर्जुन को श्रीमद् भगवद् गीता का ज्ञान प्रदान किया था। इस ग्रंथ में भगवान श्री कृष्ण के एक एक शब्द मूल्यवान है. गीता के उपदेश को आप अपनी जीवन में पालन करके जीवन को शांतिपूर्ण तरीके से बीता सकते है और किसी भी मुश्किल से आसानी से निकल सकते है। आज हम इस लेख में Bhagavad Gita Quotes in Hindi पोस्ट किए है. जिसे पढ़के आप अपनी जिंदगी में सकारात्मक परिवर्तन ला सकते हैं।

BHAGAVAT GITA QUOTES IN HINDI

20230118 180635

कोई भी इंसान जन्म से नहीं
बल्कि अपने कर्म से महान बनता है।

अच्छी नीयत से किया गया काम 
कभी व्यर्थ नहीं जाता, और उसका फल
आपको ज़रूर मिलता है।

बुराई बड़ी हो या छोटी हमेशा
विनाश का कारण बनती है, 
क्योंकि नाव में छेद छोटा हो या बड़ा
नाव को डुबा ही देता है।

जो होने वाला है वो होकर ही रहता है,
और जो नहीं होने वाला वह कभी नहीं होता,
ऐसा निश्चय जिनकी बुद्धि में होता है,
उन्हें चिंता कभी नही सताती है।

20230118 084708

गलतियां ढूंढना गलत नही है,
बस शुरुआत खुद से होनी चाहिए।

निर्णय लेते समय ना ज्यादा
खुश हो ना ज्यादा दुखी हो,
ये दोनो परिस्थितियाँ आपको
सही निर्णय लेने नही देती।

सत्य कभी दावा नहीं करता कि
मैं सत्य हूं लेकिन झूठ हमेशा 
दावा करता हैं कि सिर्फ मैं ही सत्य हूं।

KARMA BHAGAVAD GITA QUOTES IN HINDI

20230118 081140

कर्म करो फल की
चिंता मत करो।

गीता में कहा गया है कोई भी
अपने कर्म से भाग नहीं सकता
कर्म का फल तो भुगतना ही पड़ता है।

अच्छे कर्म करने के बावजूद भी 
लोग केवल आपकी बुराइयाँ ही याद रखेंगे,
इसलिए लोग क्या कहते हैं इस पर ध्यान मत दो,
तुम अपना कर्म करते रहो।

20230118 083723

फल की अभिलाषा छोड़कर
कर्म करने वाला पुरुष ही अपने
जीवन को सफल बनाता है।

मैं किसी का भाग्य नही बनाता हर कोई अपना भाग्य खुद बनाता हैं, आप आज जो भी कर्म कर रहे हों, उसका फल आपको कल प्राप्त होगा, और आज जो आपके पास हैं वह आपके द्वारा पहले किये गये कर्मों का फल हैं।

इंसान हमेशा अपने भाग्य को कोसता है,
यह जानते हुए भी कि भाग्य से भी
ऊंचा उसका कर्म है, जो स्वयं के हाथों में है।

भगवत गीता के अनमोल वचन 

20230118 091415

नकारात्मक विचारों का आना तय है,
परंतु यह आप पर निर्भर करता है,
कि आप उन्हें कितना महत्व देते हैं!

जो अच्छा लगे उसे ग्रहण करो
और जो बुरा लगे उसका त्याग
फिर चाहे वह विचार हो, 
कर्म हो या मनुष्य।

मैं भूत, वर्तमान और भविष्य के सभी
प्राणियों को जानता हूँ, 
किन्तु वास्तविकता में 
मुझे कोई नहीं जानता।

20230118 093517

Bhagavad Gita Quotes in Hindi

जब भविष्य धुंधला पड़ने लग जाता है, 
तब आपको अपने वर्तमान में 
ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

जो पैदा हुआ है उसकी मृत्यु भी निश्चित है,
जैसे जो मृत है उनके लिए जन्म,
इसलिए जिसे बदल नहीं सकते 
उसके लिए शोक मत करो।

MOTIVATIONAL GEETA QUOTES IN HINDI

20230118 095132

मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है,
जैसा वो विश्वास करता है
वैसा वो बन जाता है।

आत्म-ज्ञान की तलवार से अपने
ह्रदय से अज्ञान के संदेह को काटकर 
अलग कर दो, उठो…अनुशाषित रहो।

जिस मनुष्य के पास सब्र की ताकत है,
उस मनुष्य की ताकत का कोई
मुकाबला नहीं कर सकता।

20230118 100452

मनुष्य को जीवन की चुनौतियों से
भागना नहीं चाहिए और न ही 
भाग्य और ईश्वर की इच्छा जैसे
बहानों का प्रयोग करना चाहिए।

शिक्षा और ज्ञान उसी को मिलता है,
जिसमें जिज्ञासा होती है।

GEETA UPDESH IN HINDI

20230118 101328

Bhagavad Gita Quotes in Hindi

जिस प्रकार अग्नि सोने को परखता है,
उसी प्रकार संकट वीर पुरुष को।

जो व्यवहार आपको दूसरों से पसंद ना हो, 
ऐसा व्यवहार आप दूसरों के साथ भी ना करें।

एक अनुशासित व्यक्ति ही
अपना तथा समाज व देश का 
विकास कर सकता है।

20230118 102232

अगर आपको कोई अच्छा लगता है,
तो अच्छा वो नहीं, बल्कि अच्छे आप हो
क्योंकि उसमें अच्छाई देखने वाली
नजर आपके पास है।

जो मुझे सर्वत्र देखता है और सब कुछ
मुझमें देखता है उसके लिए न तो मैं
कभी अदृश्य होता हूँ और न वह
मेरे लिए अदृश्य होता है।

GEETA KRISHNA QUOTES IN HINDI

20230118 103441

वक्त से पहले मिली चीजें अपना
मूल्य खो देती है, और वक्त के बाद
मिली चीजें अपना महत्व!

आत्मा न तो जन्म लेती है
और न ही मरती है,
आत्मा अमर है।

व्यक्ति जो चाहे बन सकता है,
यदि विश्वास के साथ इच्छित वस्तु
पर लगातार चिन्तन करे।

20230118 105307

Bhagavad Gita Quotes in Hindi

मन की शांति से बढ़कर इस
संसार में कोई भी संपत्ति नहीं है।

अपने आपको ईश्वर के प्रति समर्पित कर दो,
यही सबसे बड़ा सहारा है, जो कोई भी
इस सहारे को पहचान गया है वह डर,
चिंता और दुखों से आजाद रहता है।

POSITIVE THINKING BHAGAVAD GITA QUOTES IN HINDI

20230118 110420

ज्यादा खुश होने पर और
ज्यादा दुखी होने पर निर्णय नहीं लेना चाहिए,
क्योंकि यह दोनों परिस्थितियां आपको
सही निर्णय नहीं लेने देती हैं।

जब इंसान अपने काम में आनंद खोज
लेते हैं तब वे पूर्णता प्राप्त करते है।

निंदा से घबराकर अपने लक्ष्य
को कभी न छोड़े, क्योंकि लक्ष्य
मिलते ही निंदा करने वालों की
राय बदल जाती है।

20230118 112518

हमेशा संदेह करने से खुद का ही नुकसान होता है,
संदेह करने वाले व्यक्ति के लिए 
प्रसन्नता न ही इस लोक में है 
और न ही किसी और लोक में।

जो पुरुष सुख तथा दुख में 
विचलित नहीं होता और 
इन दोनों में समभाव रहता है,
वह निश्चित रूप से मुक्ति के योग्य है।

LIFE BHAGAVAD GITA QUOTES IN HINDI

20230118 153930

जिंदगी में हम कितने सही हैं और
कितने गलत हैं यह केवल दो लोग जानते हैं,
एक परमात्मा और दूसरी हमारी अंतरात्मा।

जीवन में बिना किसी कर्म को
किए किसी फल की आशा करना
इंसान की सबसे बड़ी भूल होती है।

मनुष्य अपने जीवन में जो भी
कर्म रूपी बीज बोता है,
भविष्य में उसी का फल
उसे प्राप्त होता है।

20230118 161016

‘मैं’ श्रेष्ठ हूं, यह आत्मविश्वास है,
लेकिन सिर्फ ‘मैं’ ही श्रेष्ठ हूं,
यह अहंकार है।

क्रोध से उत्पन्न होता है मोह और मोह से स्मृति विभ्रम,
स्मृति के भ्रमित होने पर बुद्धि का नाश होता है,
और बुद्धि के नाश होने से वह मनुष्य नष्ट हो जाता है।

BHAGAVAT GITA QUOTES IN HINDI

20230118 163141

मेरा तेरा, छोटा बड़ा, अपना पराया, 
मन से मिटा दो, फिर सब तुम्हारा है 
और तुम सबके हो।

जिस प्रकार सूर्य उगते ही अंधकार मिट जाता है,
उसी प्रकार सही ज्ञान की प्राप्ति से 
अज्ञान का अंत हो जाता है।

तुम इस धरती पर मेहमान हो,
मालिक नहीं इसलिए 
अहंकार छोड़ दो।

अकेले रहना तुम्हें यह भी सिखाता है,
कि वास्तव मे तुम्हारे पास स्वयं के 
अलावा और कुछ भी नहीं।

GITA QUOTES IN HINDI WITH IMAGES

20230118 165059

निराश ना होना,
कमजोर तेरा वक्त है, तू नहीं।

जैसे समुद्र के पार जाने के लिये
नाव ही एक मात्र साधन है,
वैसे ही स्वर्ग में जाने के लिये 
सत्य ही एक मात्र सिढी है कुछ और नही।

मनुष्य जिस रूप में ईश्वर को याद करता है,
ईश्वर भी उसे उसी रूप में दर्शन देते हैं।

20230118 170553

खुद को जीवन के योग्य बनाना ही 
सफलता और सुख का एक मात्र मार्ग है।

जिस प्रकार मनुष्य पुराने कपड़ो को त्याग कर
नये कपड़े धारण करता है, उसी प्रकार आत्मा
पुराने तथा व्यर्थ के शरीरों को त्याग
कर नया भौतिक शरीर धारण करता है।

गीता उपदेश इन हिंदी

20230118 172144

जो मनुष्य अपने कर्मफल प्रति निश्चिंत है,
और जो अपने कर्तव्य का पालन करता है,
वहीं असली योगी है।

मनुष्य अपने विचारो से ऊचाईयाँ में भी हो सकता है,
और खुद को गिरा भी सकता है क्योकि हर
व्यक्ति खुद का मित्र भी होता है और शत्रु भी।

न तो यह शरीर तुम्हारा है,
और न ही तुम इस शरीर के मालिक हो,
यह शरीर 5 तत्वों से बना है… आग, जल, वायु,
पृथ्वी और आकाश, एक दिन यह शरीर इन्ही 5
तत्वों में विलीन हो जाएगा।

वह व्यक्ति जो अपनी मृत्यु के समय मुझे याद
करते हुए अपना शरीर त्यागता है,
वह मेरे धाम को प्राप्त होता है
और इसमें कोई शंशय नही है।

किसी का अच्छा ना कर सको तो,
बुरा भी मत करना।

चुप रहने से बड़ा कोई जवाब नहीं और
माफ कर देने से बड़ी कोई सजा नहीं।

Leave a Comment