[50+] Aukat Shayari in Hindi | औकात शायरी हिंदी में

औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari
Aukat Shayari in Hindi

Aukat Shayari in Hindi: दोस्तों आपको और एक खूबसूरत लेख में स्वागत है। इस लेख में हम आपके लिए औकात पर शायरी लेकर आए है इन शायरी को पढ़िए और इन शायरी को आप शेयर भी कर सकते है WhatsApp, Facebook और Instagram पर।


AUKAT SHAYARI | औकात पर शायरी

औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari
Aukat Shayari in Hindi

काम निकल जाए तो औकात
दिखते है लोग, वरना पाँव
पकड़कर गिड़गिड़ाते है लोग।


औकात देखकर
जरूरते भी सिमट जाती है,
जेब में पैसा ना हो तो
भूख भी मिट जाती है।


ऐ दिल तू ज़रा कम ही
हसरतें पाला कर,
बस तू अपनी औकात के
हिसाब के ख्वाब देखा कर।


चलो हकीक़त से थोड़ी मुलाक़ात
करते हैं, जितनी औकात बस उतनी
ही बात करते हैं।


अपने रिश्तों और दोस्तों के बीच
कभी औकात की दिवार मत आने दीजिए।


औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

मेरी औकात से बाहर
मुझे कुछ ना देना मेरे मालिक क्योंकि,
ज़रूरत से ज़्यादा रोशनी भी
इंसान को अंधा बना देती है!


चूर हो गयी सारी चमक हथौड़े की
चोट से, हीरे की औक़ात ही क्या थी
जौहरी के सामने।


खाने में नमक स्वाद के अनुसार,
अकड़ औकात के अनुसार ही अच्छा लगता हैं।


कभी-कभी जमीन पर
गिरना भी जरूरी है दोस्तों,
ऊंचीं उड़ाने अक्सर इन्सान को
उसकी औकात भुला देती है।


बुरे वक्त की भी क्या बात होती है,
वो भी सलाह देता है, जिसकी कोई
औकात नहीं होती है।


ATTITUDE AUKAT SHAYARI

औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

औकात की बात मत करो,
जिस दिन सामना होगा
उस दिन हस्ती मिटा देंगे!


मेरी औकात का तुम अंदाजा लगा सको,
इतनी तो तुम्हारी औकात नहीं।


औकात बस इतनी सी रखिये की,
सामने वाला आपकी औकात
दिखाने से पहले, खुद की औकात देख ले।


वो मेरी ना हुई तो ईसमेँ
हैरत की कोई बात नहीँ,
क्योँकि शेर से दिल लगाये
बकरी की ईतनी औकात नही।


अपनी औकात भूल जाए
अमीर भी नहीं है हम,
और तुम हमें हमारी औकात बताओ
इतने फ़क़ीर भी नहीं है हम।


औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari
Aukat Shayari in Hindi

औकात नहीं है आँख से आँख मिलाने की,
और बात करते है हमारा नाम मिटाने की।


चीर दूंगा मेरे जख्मी पैरों से
इन लंबे रास्तों को,
वक्त मेरा बताएगा औकात इन
हसीन चेहरों को।


जिसकी औकात नहीं होती हमारी
कामयाबी रोकने की,
वो बदनामी शुरू करते हैं
नीचा दिखने के लिए।


अक्सर वही लोग उठाते हैं हम पर उँगलियाँ,
जिनकी हमे छुने की औकात नहीं होती।


APNI AUKAT SHAYARI

औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

सही वक्त आने पर करवा देगे
औकात का एहसास, कुछ तालाब
खुद को समंदर समझ बैठे है!


औकात का तो वक्त आने पर पत्ता चलता है,
रात को गिदड़ कितना भी चिल्ला ले,
सुबह तो शेरो का ही दबदबा होता है।


थोड़ा औकात से जीना सिख लो दोस्तों,
मोम जैसा दिल लेके फिरोगे तो लोग
जलाते रहेंगे और पिघलाते ही रहेंगे।


किसी का भला कितना ही कर लो,
आखिर में वो अपनी औकात दिखा देता है!


लोग बातों ही बातों में हालात पूछ लेते हैं,
कितना कमा लेते हो कहकर,
औकात पूछ लेते हैं।


औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

अच्छा हूँ तो अच्छा ही रहने दो बुरा बन गया,
तो झेलने की औकात नहीं तुम्हारी।


तेवर तो हम वक्त आने पे दिखायेंगे,
शहर तुम खरीद लो,
उस पर हुकुमत हम ही चलायेंगे।


ख़्वाहिश तो मेरी भी होती है
तुम्हें अपना बनाने की,
मग़र तुम्हारे दीवार की ईंट भी
मेरी औकात से ऊपर है।


कोई क्या बोलता है हमारी पीठ के पीछे,
मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता,
मुहं पर बोलने की औकात नहीं,
मेरे लिए इतना काफी है।


क्या औकात है तेरी ए ज़िंदगी,
चार दिन की मोहब्बत,
तुझे बरबाद कर देती है।


AUKAT SHAYARI IN HINDI

औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari
Aukat Shayari in Hindi

दौलत से औकात नापी जाए जहाँ,
क्या इंसान की कद्र होगी वहाँ।


बुरे वक़्त के साथ
जो मैंने अपनी मुलाकात देख ली,
किसी की सच्चाई और
किसी की औकात देख ली।


इश्क करो वफा करो अगर फिर
भी वह औकात दिखाएं तो दफा करो!


औकात लोगों को बड़ा बनाती है,
अच्छा तो उनके संस्कार ही बनाती है।


गलती मेरी है
तुझे इतनी अहमियत दे दी,
तुझे तो औकात दिखाने
वाला आईना देना चाहिए था।


औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

औकात दिखा देती है
एक दिन मोहब्बत भी,
इसलिए खुद से ज्यादा
चाहत किसी की मत रखना।


कुछ लोग अपनी औकात दिखा देते हैं,
गिराने की फ़िराक़ में बस इल्जाम लगा देते हैं।


कामयाबी का जनून होना चाहिए,
फिर मुश्किलों की क्या औकात है।


अपने से छोटों के साथ सम्मानपूर्वक व्यवहार,
बड़ी औकात वाले ही कर सकते है।


किसी को नीचा दिखाना,
छोटी औकात होने की सबसे बड़ी पहचान है।


AUKAT SHAYARI IMAGE

औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

तेरी तो इतनी भी औकात नहीं
की तुझसे नफरत करूँ,
ना जाने कैसे मोहब्बत हो गई।


आँखें भी अक्सर अपनी औकात भूल जाती है,
खुद है दो पर सपने हजार लिए चली आती है।


तौलना ही हो तो लोगों को
व्यवहार के ताराजू में तौलें,
दौलत या औकात के तराजू में नहीं।


दर्द दिल में और मन में
जज़्बात लेकर घूमते हैं,
इन्सान हैं हम इंसानियत की
औकात लेकर घूमते हैं।


माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये।


औकात शायरी, Aukat shayari, Attitude aukat shayari, Aukat shayari image, Meri aukat shayari, Teri aukat shayari

मैं क्यूँ कुछ सोच कर दिल छोटा करूँ
वो उतनी ही कर सकी
वफ़ा जितनी उसकी औकात थी।


औकात की बात वही करते है,
जिनकी कोई औकात नहीं होती है।


कुछ लोगों की वफ़ा की ज़ात नहीं होती,
रिश्ते तो बना लेते हैं,
बस निभाने की औक़ात नहीं होती।


मालूम है मुझे मेरी औकात,
हर बार क्यों दिखाते हो,
छोड़ना है तो छोड़ ही जाओ ना,
यूँ हर बार क्यों सताते हो।


शाखों से गिर कर टूट
जाऊ, मैं वो पत्ता नही,
आंधियो से कह दो कि
अपनी औकात में रहें।


बात तो औकात की होती है,
जिंदगी में अक्सर कोई बता जाता है,
कोई दिखा जाता है।


Leave a Comment